×
 
logohelpkaro

DoctoriDuniya Blog

blog1

यदि आप भी इन लक्षण का अनुभव कर रहें है तो अपने चिकित्सक से तुरन्त मधुमेह की जाँच करवाएँ।

Posted on by DoctoriDuniya

मधुमेह भारत में सबसे आम एवं तेज़ी से बढ़ती स्वास्थ्य समस्याओं में से एक है। यदि हम भारत को मधुमेह के रोगियों की राजधानी  कहें तो गलत नहीं होगा? एक शोध के अनुसार भारत में मधुमेह के रोगियों की संख्या अन्य देशो के मुक़ाबले सबसे अधिक पाई गई। आंकड़ों के अनुसार यह पाया गया है की 2025 तक भारत की 80%  आबादी मधुमेह की शिकार होगी? विशेषज्ञो के अनुसार हर दस सेकंड में एक व्यक्ति मधुमेह का शिकार हो रहा है। डायबिटीज को मौत के सबसे मुख्य कारणों में से एक माना गया है। मधुमेह  होने की कई वजह हो सकती है। आपकी अस्वास्थ्य जीवन शैली, शारीरिक गतिविधियों में कमी, अस्वास्थ्यकर आदतें एवं असामान्य वज़न मुख्य कारक हैं। अच्छी खबर यह है की  यदि आप एक स्वस्थ जीवन शैली अपनाते हैं तो अपने मधुमेह के खतरे को काफी हद्द तक कम कर सकते हैं

यदि आप भी इन समस्याओं का अनुभव कर रहें है तो अपने चिकित्सक से तुरन्त संपर्क करें और मधुमेह की जाँच करवाएँ।

1.असामान्य एवं तेज़ी से वजन घटना- यदि आपका वजन असामान्य  रूप से अचानक से घट रहा है तो आपको अलर्ट होने की आवश्यकता है। हो सकता है की आपके शरीर में इंसुलिन की मात्रा असामान्य हो गई हो जो आपके वज़न में प्रभावी असर कर रहा हो।

2.असामान्य प्यास लगना- यदि आप लगातार पानी का सेवन करने के बाद भी प्यास महसूस करते हैं तो हो सकता है की आपको मधुमेह हो गया है। डायबिटीज आपके शरीर में शर्करा के स्तर को बढ़ाता है और इसका अधिक संग्रह होने की वजह से अधिक मूत्र होता है जिस वजह से प्यास अधिक लगती है।

3.भूख का अधिक लगना- शरीर में इंसुलिन की कमी के कारण ऊर्जा की लगातार आवश्यकता होती है। अतः मधुमेह में भूक का अधिक लगना स्वाभाविक है।

4.थकान का अधिक लगना- यदि आप मधुमेह से ग्रस्त हैं, तो आप हमेशा थका महसूस करेंगे। उच्च ग्लूकोज रक्त में शर्करा को बढ़ाता है जो रक्त के प्रवाह को धीमा कर देता है। जिससे दिनभर थकान महसूस होती है। इसलिए, मधुमेह के प्रबंधन के लिए तुरन्त निरीक्षण करना आवश्यक है। इससे आगे की जटिलताओं की संभावना भी कम हो जाती है, जो कि मुख्यता गुर्दा, आंख या हृदयको अधिक प्रभावित करती है।

यदि आप मधुमेह के शिकार हैं तो अपनी जीवन शैली का प्रबंध करना आपके लिए बेहद महत्वपूर्ण है। यह जानना आवश्यक है की आप अपने  शर्करा के स्तर को कैसे सामान्य बनाए। निम्नलिखित चीजें हैं जो आपके शर्करा के स्तर को प्रबंधित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं ।

1.अपने खान पान पे ध्यान दें - हम जानते हैं कि स्वस्थ भोजन स्वस्थ रहने का आधार है। मधुमेह रोगियों के लिए यह अधिक महत्वपूर्ण हो जाता है की वो अपने खान पान का ज़रूरी ख्याल करें। जो कुछ भी आप खाते हैं वह आपके शर्करा के स्तर को प्रभावित करता है। इसलिए केवल उतना और वह ही खाएं जितना आपके शरीर को आवश्यकता है। मिठाई और वसायुक्त भोजन कम खाएं. हरी एवं पत्तेदार सब्जियां, फल और साबुत अनाज अधिक लें। यदि आप इंसुलिन ले रहे हैं तो अपनेकार्बोहाइड्रेट की मात्रा कम रक्खें।

2. रोजाना व्यायाम करें - यदि आप शारीरिक रूप से सक्रिय नहीं हैं, तो अब आपको सक्रिय होने की आवश्यकता है। व्यायाम अपनी आदत में शामिल करें जोकि स्वस्थ शरीर के लिए अत्यंत आवश्यक है।आपके शरीर को ऊर्जा की आवश्यकता होती है और व्यायाम करने से ऊर्जा के रूप में चीनी का इस्तेमाल होता है, जो आपके शर्करा के स्तर को संतुलित रखता है।

3.पानी का सेवन अधिक करें- अधिक पानी के सेवन से खून में शर्करा का स्तर  सामान्य बना रहता है।अतः कोशिश करें की कम से कम 10 ग्लास पानी ज़रूर पिये।

 



©Doctoriduniya.com. All rights reserved