×
 
logohelpkaro

DoctoriDuniya Blog

blog1

ग्लूकोमा-लक्षण,कारण एवं उपचार(Glaucoma-symptoms,causes and treatment)

Posted on by DoctoriDuniya



ग्लूकोमा आँख की एक बीमारी है जो आँख की तंत्रिका को धीरे धीरे छतिग्रस्त कर देती है जो की आगे चल कर आँख के अंधापन का एक प्रमुख कारण बनती है.यह आँख में पाए जाने वाले तरल पदार्थ की कमी के कारण पैदा हुए दबाव के कारण बढ़ती है.मुख्यता बहुत कम ही लोग इसके लक्षण समझ पाते हैं.आमतौर पर ग्लूकोमा के लक्षण प्रकट नहीं  होते और जब इस बीमारी का पता चलता हैं तब तक बहुत देर हो चुकी होती हैं.यदि आपकी उम्र ४० या उससे अधिक हैं,या आप डायबिटीज के मरीज़ हैं तो आपको नियमित रूप से आँख की जांच कराते रहना चाहिए.

ग्लूकोमा के प्रकार(Types of glaucoma)-

ग्लूकोमा दो प्रकार के होते हैं.

१.प्राथमिक खुला कोण-यह आँखों में रिसाव करने वाली तरल पदार्थ की नली के धीरे धीरे बंद होने के कारण होता हैं.जिससे की आँखों में दाब अत्यधिक बढ़ जाता हैं.

२.कोण बंद- आँखों में दबाओ बढ़ने के कारण कॉर्निया और आईरिस की चौड़ाई काम होने लगती हैं.जिसके परिणाम स्वरुप दृष्टि की हानि होने लगती हैं.

ग्लूकोमा के कारण(What causes glaucoma)

1.ग्लूकोमा मुख्य्ता ४० वर्ष से अधिक उम्र की आयु के लोगों को प्रभावित करता हैं.

2.पारिवारिक इतिहास

3.डायबिटीज

4.कुछ स्टेरॉयड दवाइयां

5.आँख में तीव्र आघात

6.आँख में संक्रमण

ग्लूकोमा के लक्षण(Symptoms of glaucoma)-

1.आंखों में लाली

2. आंख का दर्द

3. आँख से धुंधला दिखना

4. मतली या उलटी

5. धीरे धीरे दृष्टि का कम होना

6. हल्का  सिर दर्द

7.आँख में दबाव महसूस करना

ग्लूकोमा का इलाज कैसे होता है(How is glaucoma treated)?

आपका चिकित्सक आपको लेज़र ड्राप, लेजर सर्जरी, या माइक्रोस्कोरी का सुझाव दे सकता हैं.

क्या ग्लूकोमा को रोका जा सकता हैं?

यदि आप इसका जल्द से जल्द निदान और इलाज करते हैं तो इस रोग को नियंत्रित किया जा सकता हैं.

 “BE INFORMED, BE HEALTHY



©Doctoriduniya.com. All rights reserved